टॉप स्टोरी

‘राम’ के बाद अब ‘सीता’ का सहारा ले सकती है बीजेपी

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर तो बीजेपी का चुनावी एजेंडा है ही लेकिन इस बार लोकसभा चुनाव जीतने के लिए बीजेपी राजनीतिक अखाड़े में माता सीता का भी सहारा ले सकती है।  बिहार की सीतामढ़ी सीट पर अभी उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी का कब्जा है इस सीट पर इस बार बड़ा परिवर्तन हो सकता है क्षेत्र के लोगों का मानना है कि राम कुमार शर्मा अगर दोबारा एनडीए का उम्मीदवार बनें तो हार सकते हैं लिहाजा सीतामढ़ी सीट जीतने के लिए अमित शाह कोई बड़ा दांव खेल सकते हैं। 
 
सूत्र बताते हैं कि इस सीट से बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय चुनाव लड़ने का मन बना रहे हैं नित्यानंद राय अभी समस्तीपुर जिले की उजियारपुर सीट से सांसद हैं पहले वे हाजीपुर से विधायक रहे हैं खबरों की मानें तो नित्यानंद राय ने अपने लिए इस सीट पर सर्वे भी करवाया है नित्यानंद राय वर्तमान माहौल में उजियारपुर को सेफ नहीं मान रहे ऐसे में एक फॉमूर्ला ये निकल सकता है कि उजियारपुर सीट से राम कुमार शर्मा को उतारा जाए और सीतामढ़ी से नित्यानंद राय लड़ें।
 
सीतामढ़ी सीट पर यादव वोटरों का दबदबा रहा है यहां से अब तक सबसे ज्यादा बार यादव सांसद ही जीते हैं जेडीयू से पूर्व सांसद नवल किशोर यादव दावेदार हो सकते थे लेकिन एक मामले में सजा होने की वजह से वो चुनाव नहीं लड़ सकते ऐसे में जेडीयू इस सीट पर दावे के लिए ज्यादा जोर नहीं लगाने वाली है।

 

Related Post

Leave a Comments

Name

Email

Contact No.