सोशल मीडिया / युथ गैलरी

लोकेशन ट्रैक करने का आरोप, Google के खिलाफ केस दर्ज

लोकेशन ट्रैक करने का आरोप, Google के खिलाफ केस दर्ज

NEWYORK

गूगल का इस्तेमाल लगभग सभी लोग करते हैं। हमारा कोई भी काम गूगल के बिना मुश्किल है। हमें कोई भी जानकारी गूगल आराम से दे देता है। कुछ भी जानने के लिए सभी गूगल का ही इस्तेमाल करते हैं। हालांकि गूगल इस समय मुसीबत में दिखाई दे रहा है। गूगल की मुसीबत का कारण है उसका लोकेशन ट्रैक सिस्टम है।  बता दें, हाल ही में खुलासा हुआ था कि गूगल स्मार्टफोन पर लोकेशन बंद होने के बावजूद लोगों की लोकेशन हिस्ट्री को ट्रैक करता है। इसी मामले में एक व्यक्ति ने सैन फ्रांसिस्को के फेडरेल कोर्ट में गूगल के खिलाफ प्राइवेसी के उल्लंघन के लिए केस फाइल किया है। व्यक्ति ने सभी अमेरिकी आईफोन या एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूजर्स का प्रतिनिधित्व करने के लिए क्लास-एक्शन स्टेट्स की मांग की है। गूगल ने इस मामले में कोई भी जानकारी साझा नहीं की है। 

व्यक्ति द्वारा किए गए केस फाइल में कहा गया कि गूगल अपने ऑपरेटिंग सिस्टम और ऐप्स में दिखाता है कि कुछ सेटिंग्स के जरिये यूजर अपनी ट्रैकिंग को बंद कर सकते हैं। मुकदमे में गूगल के इस सर्विस के दावे को गलत बताया गया है। पिछले हफ्ते विश्वविद्यालय शोधकर्ताओं द्वारा किए गए खुलासे का हवाला देते हुए मुकदमे में गूगल पर निजता कानून का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है। लोगों द्वारा अपनी लोकेशन बंद करने के बावजूद भी गूगल यूजर्स की सेटिंग को ट्रैक करता है। 

इस मुकदमे को लेकर गूगल ने अपनी कोई भी प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है। कुछ समय पहले न्यूज एजेंसी एसोसिएट प्रेस ने बताया था कि गूगल लोकेशन हिस्ट्री बंद होने के बावजूद स्मार्टफोन यूजर्स की लोकेशन को ट्रैक करती है। वहीं, अमेरिका की प्रिंसटन यूनिवर्सिटी की रिसर्च टीम ने एपी को बताया कि जब यूजर गूगल मैप को ओपन करता है, तो उसकी लोकेशन इन्फोर्मेशन स्वत: ही ले ली जाती है। फिर उसी के आधार पर आपके एंड्रायड पर मौसम की जानकारी भी अपडेट हो जाती है। 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email