राष्ट्रीय

छोटूराम जयंती के उपलक्ष्य में रक्तदान शिविर का आयोजन

छोटूराम जयंती के उपलक्ष्य में रक्तदान शिविर का आयोजन

GCN

देश के सुप्रसिद्ध शिक्षाविद समाजशास्त्री दार्शनिक प्रोफ़ेसर डॉ. एमपी सिंह के नेतृत्व में सर छोटूराम जयंती के उपलक्ष्य में रक्तदान शिविर का आयोजन

No description available.

फरीदाबाद  : अखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट  के तत्वावधान में  सर छोटूराम जयंती के पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया । ट्रस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ एम पी सिंह ने सर छोटूराम की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि किसानों के मसीहा और क्रांतिकारी सर छोटूराम जी का जन्म 24 नवंबर 1881 को हुआ था। जीवनभर इन्होंने ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ आंदोलन किए और सदैव किसानों के हित में अपनी आवाज़ बुलंद की। देश में इन्होंने मोर की तस्करी और शिकार का भी पुरज़ोर विरोध किया। छोटूराम ने कांग्रेस के साथ मिलकर ब्रिटिश सरकार के खिलाफ कई मोर्चे खोले, लेकिन उन्होंने कभी गांधी जी के असहयोग आंदोलन का समर्थन नहीं किया। उनका मानना था कि क्रांति से ही आज़ादी संभव है साथ ही किसानों के लिए हमें लड़ाई संवैधानिक तरह से लड़नी होगी जिस कारण उन्होंने देश की आज़ादी और किसानों के अधिकारों के लिए अकेले ही नेशनल यूनियनिस्ट पार्टी बनाकर कई सारे आंदोलन लड़े और कानूनी रूप से किसानों को उनका हक दिलाया। जाट समाज और पंजाब प्रांत को भारतीय समाज का अभिन्न अंग बनाने का श्रेय भी छोटूराम को ही दिया जाता है। ऐसे में आज उनकी जयंती के  सेक्टर 4 फरिदाबाद में रक्तदान शिविर मे 153 युवायों ने किया रक्तदान डेंगू के कारण अस्पतालों में आई रक्त की कमी को पूरा करने के लिए अखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट द्वारा सेक्टर 4 फरिदाबाद के बाहर रक्तदान शिविर लगाया गया। 

रेडक्रॉस सोसाइटी जिला  फरीदाबाद ने अहम भूमिका निभाई। शिविर में मास्क, सोशल डिस्टैन्सिंग व सैनीटाईजेशन का खास ध्यान रखा गया। शिविर सुबह 10 बजे शुरू हुआ और दोपहर बाद 3:30 बजे तक चला। उन्होंने बताया कि लोगों द्वारा रक्त दान करने से दिल की सेहत में सुधार, दिल की बीमारियों और स्ट्रोक के खतरे को कम माना जाता है। खून में आयरन की ज्यादा मात्रा दिल के दौरे के खतरे को बढ़ा सकती है नियमित रूप से रक्तदान करने से आयरन की अतिरिक्त मात्रा नियंत्रित हो जाती है। जो दिल की सेहत के लिए अच्छी है।

कई बार मरीजों के शरीर में खून की मात्रा इतनी कम हो जाती है कि उन्हें किसी और व्यक्ति से ब्लड लेने की आवश्यकता पड़ जाती है। ऐसी ही इमरजेंसी स्थिति में खून की आपूर्ति के लिए लोगों को रक्तदान करने के लिए आगे आना चाहिए। इससे जरुरतमंद की मदद हो सकेगी।

इस रक्तदान शिविर में आये सभी रक्तदानियों को प्रशंसा पत्र, मास्क, साबुन, बैज व गिफ्ट देकर प्रोत्साहित किया गया हैं। इनको पढ़कर आप अवश्य ही छोटूराम जी के विचारों से अवगत और प्रेरित होंगे ।
ट्रस्ट के संस्थापक  डॉ. हृदयेश कुमार ने कहा छोटूराम जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए कहा कि अन्य लोग जब सरकार से नाराज़ होते हैं, तब वह कानून तोड़ते हैं,लेकिन जब किसान सरकार से नाराज़ होता है, तब वह सरकार की पीठ तोड़ देता है।

इस अवसर पर ट्रस्ट के राष्ट्रीय महासचिव महेश शर्मा , महासचिव चन्द्रभान शर्मा राष्ट्रीय प्रभारी धर्मेन्द्र चौधरी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कुंवर लखन रावत, राष्ट्रीय सचिव नीलम शर्मा, राष्ट्रीय सचिव तेवतिया,  राष्ट्रीय सचिव डॉ महेंद्र भारद्वाज,  राष्ट्रीय सचिव सुष्मिता भौमिक, राष्टीय सचिव पूनम चौधरी , उपाध्यक्ष बंटी कोहली ट्रस्टी विमलेश देवी व लालती मिश्रा व उत्तर प्रदेश अध्यक्ष निधि चौधरी व प्रदेश सचिव सुदर्शन सिंह, प्रदेश सचिव शिव शंकर राय, सुनीता कुमारी, नीरज कुमार, वेदवीर सिंह, पुस्पेन्द्र सिंह और रानी पाण्डेय आदि की विशेष

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email