राष्ट्रीय

2000 के नोट बंद होने का झांसा देकर व्यापारी से 2 लाख रुपये ठगे, आरोपी गिरफ्तार

2000 के नोट बंद होने का झांसा देकर व्यापारी से 2 लाख रुपये ठगे, आरोपी गिरफ्तार

एजेंसी 

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने एक अनाज व्यापारी से कथित रूप से 2 लाख रुपये की धोखाधड़ी करने के आरोप में एक 55 वर्षीय शातिर ठग को गिरफ्तार किया है। उसने व्यापारी को यह कहकर झांसा दिया था कि सरकार 2,000 रुपये के नोटों को नष्ट कर रही है और पहले से ही 1,000 रुपये के नए नोट लॉन्च कर चुकी है। पुलिस ने मंगलवार को बताया कि आरोपी ने व्यापारी को 1000 रुपये के नोट के साथ 2000 रुपये के नोटों की अदला-बदली करने की पेशकश की थी। 

डीसीपी (नॉर्थ) एंटो अल्फोंस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी शख्स की पहचान अजय शर्मा (55) के रूप में हुई है। पुलिस ने उसे रविवार को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के साहिबाबाद में उसके घर से गिरफ्तार किया था। 

उन्होंने बताया कि शनिवार को उत्तरी दिल्ली के लाहौरी गेट नया बाजार के अनाज व्यापारी ने स्थानीय पुलिस स्टेशन में धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई थी।

अल्फोंस ने कहा, पूछताछ में पता चला है कि अजय शर्मा ने कई लाख रुपये जुए में हार गया था और उसे पैसे की जरूरत थी इसके लिए ही उसने व्यापारी के साथ धोखाधड़ी की थी। हमने शर्मा से शिकायतकर्ता के 2 लाख रुपये और अपराध में इस्तेमाल किए गए स्कूटर को भी बरामद कर लिया है।

पुलिस ने कहा कि 11 सितंबर को शिकायतकर्ता अपनी दुकान पर था, जब लगभग 3 बजे एक अज्ञात व्यक्ति वहां आया और वह भारत सरकार द्वारा 2,000 रुपये के नोट बंद करने के संबंध में अपने मोबाइल फोन पर किसी से बात कर रहा था। उस आदमी ने आगे दावा किया कि उसके पास 1,000 रुपये के नए छपे करेंसी नोटों के बंडल थे। उसने फोन पर दूसरी ओर वाले शख्स से पूछा कि क्या वह 1,000 रुपये के नए नोट खरीदना चाहता है।

उनकी बात सुन रहे शिकायतकर्ता ने उस व्यक्ति से पूछा कि क्या सरकार ने 1000 रुपये का नया नोट लॉन्च कर दिया है। उस ठग ने इसकी पुष्टि करते हुए व्यापारी को यह विश्वास दिलाया कि जल्द ही 2,000 रुपये के नोटों को नष्ट कर दिया जाएगा।

पुलिस ने कहा कि इसके बाद व्यापारी ने उस ठग से अपने 2 लाख रुपये के 2,000 रुपये के नोटों को बदलने की इच्छा जाहिर की। व्यापारी ने एक बैग में रखकर 2 लाख रुपये अपने कर्मचारी विष्णु दत्त को दिए, जो अपनी स्कूटी पर उस व्यक्ति के साथ चला गया। कुछ दूर जाने के बाद उस आदमी ने विष्णु दत्त से बैग ले लिया और उसे एक इमारत के अंदर जाने और उसके सहयोगी सुनील से उसी मूल्य के नए 1000 रुपये के नए नोट लेने के लिए कहा। 

डीसीपी अल्फोंस ने कहा कि इमारत के अंदर जाने पर विष्णु दत्त को वहां कोई नहीं मिला। जब वह बाहर निकला, तो उसने देखा कि वह आदमी भी गायब था। इसके बाद विष्णु दत्त ने अपने मालिक को सूचित किया, जिन्होंने अगले दिन इस ठगी के संबंध में पुलिस में मामला दर्ज कराया। जांच के दौरान, पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज मिली जिसमें संदिग्ध का स्कूटर रजिस्ट्रेशन नंबर दिखाई दे रहा था। 

इसके बाद पुलिस ने स्कूटर मालिक अजय शर्मा को साहिबाबाद में उसके घर पर छापा मारकर गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने ठगी गई रकम भी बरामद कर ली है। 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email