राष्ट्रीय

मुंबई हादसा में अब तक 12 लोगों की मौत, सीएम ने जताया दुख

मुंबई हादसा में अब तक 12 लोगों की मौत, सीएम ने जताया दुख

भाषा की रिपोर्ट 

मुंबईः लगातार बारिश से परेशान मुंबईवासियों को आए दिन किसी ना किसी तरह की अनचाही घटनाओं का सामना करना पड़ रहा है. हाल ही की घटना मुंबई के डोंगरी इलाके की है, जहां से एक चार मंजिला इमारत के गिर गई, जिसकी चपेट में आने से अब तक 12 लोगों के मरने की खबर सामने आई है. इमारत के मलबे में अभी करीब 28 लोगों से भी ज्यादा लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है. 

केसरबाई बिल्डिंग के गिरने पर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि इमारत में 15 के लगभग परिवार रहते थे. जिनके मलबे में फंसे होने की आशंका है. हमारी पहली प्राथमिकता प्रभावित लोगों को मदद पहुंचाने की है. 

घटना के बाद आसपास की इमारतें खाली करा दी गई हैं और मुंबई पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम राहत बचाव कार्य में लगी हुई है. बता दें जो बिल्डिंग गिरी है वह करीब 100 साल से भी ज्यादा पुरानी बताई जा रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक दुर्घटनाग्रस्त इमारत में 15 से भी अधिक परिवार रहते थे. बीएमसी के पीआरओ का कहना है कि यह म्हाडा बिल्डिंग थी, लेकिन चौंकाने वाली बात यह है कि इस बिल्डिंग का नाम जर्जर हो चुकी इमारतों की लिस्ट में नहीं है.

दो-तीन दिन पहले स्थानीय लोगों ने इस बिल्डिंग की एक तस्वीर भी खीची थी. इस तस्वीर में साफ देखा जा सकता है कि इसमें बिल्डिंग की स्थिति कितनी खराब थी. तस्वीर में दरारें साफ देखी जा सकती हैं.

घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस दल, फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस समेत बचाव दल घटना स्थल पर पहुंच गया है, जिसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन भी शुरू कर दिया गया है. बता दें मुंबई के डोंगरी में केसरबाग नाम की बिल्डिंग गिरी है. हादसा मंगलवार को 11:30 बजे के आसपास की है. स्थानीय लोगों का कहना है कि मंगलवार को अचानक ही यह बिल्डिंग भरभरा कर गिर गई.

जिस वक्त यह हादसा हुआ उस समय कई लोग बिल्डिंग में मौजूद थे, जिससे करीब 40 लोगों से अधिक लोग मलबे में दब गए. फिलहाल तो बिल्डिंग के गिरने की वजह का पता नहीं चल सका है, लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि लगातार हो रह बारिश इमारत के गिरने की वजह है. 

इमारत के गिरने के बाद घटनास्थल पर भीड़ लगी हुई है. ऐसे में प्रशासन जब घटनास्थल पर पहुंचा तो पहले लोगों की भीड़ हटाई गई और उसके बाद राहत बचाव कार्य शुरू किया गया. बता दें मुंबई में मौत के 600 से भी आशियाने हैं. इमारतों की जर्जर हालत को देखते हुए बीएमसी से नोटिस भी भेजा जा चुका है, फिर भी हजारों लोग इन इमारतों में जान जोखिम में डालकर रह रहे हैं. बारिश के मौसम में उनके सिर पर कच्चे धागे से बंधी तलवार लटकी रहती है. मुंबई के डोंगरी इलाके में जो बिल्डिंग ढही है वह ऐसी इन्हीं इमारतों में से एक है.

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email