राष्ट्रीय

पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका खारिज

एजेंसी 

नई दिल्ली। अखिलेश सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को खारिज कर दिया। गायत्री प्रजापति बलात्कार के मामले में एक साल से ज़्यादा से जेल में बंद हैं। यह पहली बार नहीं है जब गायत्री प्रजापति के कोर्ट द्वारा जमानत याचिका खारिज की गई है। बुधवार को प्रजापति की याचिका के विरोध में उत्तर प्रदेश सरकार की दलील थी, कि प्रजापति के खिलाफ काफी सबूत मिले है। 

वहीं अभी पीड़िता और अहम गवाहों के कोर्ट में बयान दर्ज होना बाकी है। अगर प्रजापति जेल से बाहर आते हैं तो वे सूबतों के साथ छेड़छाड़ और गवाहों को डरा धमका सकते हैं। अभियोजन पक्ष के वकील की दलील को मानते हुए सर्वोच्च अदालत ने गायत्री प्रजापति की याचिका को खारिज कर दिया। कोर्ट का यह फैसला पूर्व मंत्री के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। गौरतलब है कि चित्रकूट की एक महिला से रेप और उसकी नाबालिग लड़की से छेड़छाड़ के आरोप में पिछले साल विधानसभा चुनाव के दौरान गिरफ्तार कर लिए गए थे। तब से वह जेल में ही बंद हैं। फिलहाल उन्हें जेल में ही रहना होगा। बताते चलें कि गायत्री प्रजापति पर आय से अधिक संपत्ति रखने, अवैध कब्जे, अवैध खनन सहित कई संगीन आरोप लग चुके हैं। 

Related Post

Leave a Comments

Name

Email

Contact No.