विशेष रिपोर्ट
राजस्थान में उच्च जाति के हिन्दुओं की धमकी के बाद गाँव छोड़ने को विवस हुए 200 मुसलमान परिवार
Posted on : 07-October-2017 12:25:13 pm
Share On WhatsApp

                        

राजस्थान के जैसलमेर मे बेहद चौकाने वाला मामला सामने आया है । हिंदुस्तान टाइम्स की ख़बर की माने तो जिले के एक गांव में करीब 20 मुस्लिम परिवारों को गांव छोड़कर जाने के लिए मजबूर किए जाने का मामला सामना आया है।  लोक गायक आमद खान की हत्या के बाद हिंदू उच्च जाति के लोगों की तरफ से धमकी मिलने के बाद ये परिवार गांव छोड़ने के लिए मजबूर हो गए । जिले के दांतल गांव के रहने वाले करीब 200 मुस्लिम पास के बलाड़ गांव में अपने रिश्तेदारों के घर में पुलिस सुरक्षा में रहे रहे हैं।

HT की रिपोर्ट के मुताबिक सितंबर को गांव में एक धार्मिक समारोह आयोजित करवाया गया था। जिसमें आमद खान नाम का लोक गायक भजन गा रहा था। एक श्रद्धालु रमेश सुथार ने एक विशेष भजन गाने की फरमाइश की, ताकि उसके अंदर देवी आ सके। लेकिन उसके अंदर देवी आई नहीं तो उसने गायक खान पर आरोप लगाया कि उसने धीमे भजन गाया है, जिसकी वजह से देवी नहीं आई। उसके बाद उसने गायक का वाद्य यंत्र तोड़ दिए और उसके साथ मारपीट की। साथ ही आरोप लगाया गया है कि सुथार ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर खान को उसी रात उसके घर से उठा लिया। जिसके बाद उसका शव घर के बाहर मिला था।

हिन्दू परिवारों द्वारा खान परिवार को शिकायत दर्ज ना कराने की धमकी दी। जिसके बाद परिवार वालों ने उसे चुपचाप दफना दिया। उसके बाद उनके रिश्तेदारों ने शिकायत दर्ज कराने के लिए कहा। जब हत्या की शिकायत दर्ज कराई गई तो गांव की ऊंची जाति के लोगों ने मुस्लिमों को गांव छोड़कर चले जाने के लिए कहा। गायक खान के भाई सुगे खान ने HT ,  को बताया की हमें धमकी दी कि अगर हमने गांव नहीं छोड़ा तो वे लोग हमें भी मार देंगे। उसके बाद करीब 20 परिवार के 200 लोगों ने गांव छोड़ दिया और पास के बलाड़ गांव में हमारे रिश्तेदार के घर शरण ली।’
जैसलमेर के एसपी के मुताबिक  वे लोग मुस्लिमों को वापस गांव लौट जाने के लिए मना रहे हैं। रिपोर्ट में यादव के हवाले से लिखा है, ‘हमने उन लोगों को पूरी सुरक्षा देने का भरोसा दिया है, अगर वे लोग वापस लौट जाते हैं तो। हम लोगों ने गांव के बड़े लोगों से भी बात की है कि अगर उन्होंने मुस्लिमों को धमकाया तो मामला दर्ज किया जाएगा।’ पुलिस ने रमेश को 4 अक्टूबर को गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन उसके दो साथी अभी भी फरार हैं। खान के शव को कब्र से बाहर निकालकर पोस्टमार्टम करवाया गया है।
इनपुट-जनसत्ता